बाड़मेर के बिल्डर हंसराज सोनी पर युवती की हत्या का आरोप, फरार

0
133

बाड़मेर टाइम्स नेटवर्क।

बाड़मेर- निवासी युवती जूही जोशी की हत्या तकरीबन एक हफ्ता पहले हो गई। इस प्रकरण में बाड़मेर में रहने वाले बिल्डर हंसराज सोनी पर गुजरात पुलिस की वक्र दृष्टि हैं लेकिन हंसराज फरार हैं। हत्या के आरोपी पति ने सब राज पुलिसिया पूछताछ में खोले हैं।

साबरकांठा जिले के हिम्मतनगर में बगीचा क्षेत्र निवासी महिला की हत्या करके शव को करीब एक सप्ताह पहले हिम्मतनगर तहसील के गांभोई गांव के समीप सरवणा गांव ले जाकर जलाकर फरार हुए आरोपी पति को पुलिस ने इस हफ्ते मंगलवार को गिरफ्तार किया। वारदात में आरोपी का साथ देने वाले बहनोई को पकडऩे के लिए पुलिस टीम राजस्थान के बाड़मेर आई हुई है।

साबरकांठा जिला पुलिस अधीक्षक सौरभ सिंह व हिम्मतनगर के बी डिविजन पुलिस थाने के उप निरीक्षक ने बुधवार को बताया कि हिम्मतनगर में बगीचा क्षेत्र निवासी व जूना बाजार में वर्षों से मोबाइल फोन रिपेयरिंग का व्यवसाय करने वाले भरत अशोक सोनी (32 वर्ष) का विवाह भरत के बहनोई राजस्थान के बाडमेर निवासी हंसराज दुर्गादास सोनी के पड़ोस में रहने वाली जूही (26 वर्ष) के साथ हुआ। पहले से विवाहित जूही का विवाहित जीवन सफल ना रहने के कारण भरत के साथ विवाह में हंसराज ने सहयोग किया। पिछले दो महीने से जूही हिम्मतनगर में रहती थी लेकिन जिद्दी स्वभाव के कारण भरत के साथ बार-बार छोटी-छोटी बातों पर झगड़ती थी। परेशान होकर भरत ने बहनोई हंसराज को शिकायत की और उसने जूही को रास्ते से हटाने का कथित तौर पर षडयंत्र रचा। इसके बाद पिछली 3 जनवरी को जूही गुम हो गई। इस संबंध में भरत ने जूही के फोटो सहित हिम्मतनगर बी डिविजन पुलिस थाने में लिखित सूचना दी। दूसरी ओर, गांभोई गांव के समीप सरवणा गांव से पिछली 4 जनवरी को महिला का आधा जला शव मिलने का मामला गांभोई पुलिस थाने में दर्ज हुआ।

इस आधार पर हिम्मतनगर पुलिस ने जांच शुरू की और महिला के शव व भरत की ओर से दिए गए फोटो से मिलान किया। जांच के दौरान जूही की बहन महाराष्ट्र के पुणे निवासी इंदू महेता ने शव जूही का बताया। इस आधार पर हिम्मतनगर बी डिविजन, स्थानीय अपराधा शाखा (एलसीबी) व स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) की टीम ने जांच के दौरान महत्वपूर्ण कडिय़ां हासिल की। इसके बाद मंगलवार को भरत को बुलाकर कड़ी पूछताछ करने पर उसने पत्नी जूही की हत्या को बहनोई हंसराज के सहयोग से अंजाम देने की बात कबूल की। पुलिस ने भरत को गिरफ्तार करके बहनोई की गिरफ्तारी के लिए एक टीम राजस्थान रवाना की।

धार्मिक विधि के बहाने जूही को ले गए, पेट्रोल छिड़ककर जलाया :
जूही की हत्या से पहले, पिछली 3 जनवरी की रात को जूही को धार्मिक विधि करने के बहाने भरत व हंसराज राजस्थान की पंजीकृत कार में बिठाकर प्रांतिज राजमार्ग होकर तलोद रोड पर वावडी चौकड़ी से साबर डेरी, मोतीपुरा होकर गांभोई के समीप सरवणा गांव ले गए। वहां शौच के लिए कार से नीचे उतरने पर पीछे से दोनों जनों ने कथित तौर पर हथोड़े से सिर पर वार किया, इस कारण जूही की मौत हो गई। इसके बाद पेट्रोल छिड़ककर जूही को जलाकर वहां से दोनों जने फरार हो गए। जूही की हत्या का खुलासा होने के बाद पुलिस ने सरवणा गांव में शव जलाने के लिए उपयोग की गई माचिस के टुकड़े व भोलेश्वर के समीप हाथमती नदी में फैंका हथोड़ा जब्त किया।

प्रथमविवाह के बाद दिया था बालिका को जन्म

पुलिस के अनुसार राजस्थान के बाडमेर में हंसराज के पड़ोस में रहने वाली जूही ने प्रथम विवाह के बाद एक बालिका को जन्म दिया था। प्रथम विवाह सफल ना होने के कारण जूही के पहले पति ने बालिका को अपने पास रखी थी।

एमसीए तक पढ़ी जूही, बिल्डर है हंसराज :

राजस्थान के बाडमेर निवासी जूही ने एमसीए तक पढ़ाई की थी, उसके पिता सेवानिवृत्त पिं्रसिपल व एक बहन वकील, दो बहनें शिक्षिका हैं। जबकि भरत का बहनोई हंसराज राजस्थान व गुजरात में विविध स्थानों पर बिल्डर व्यवसाय से जुड़ा है। पुलिस ने वारदात में उपयोग की गई कार भी हिम्मनगर बी डिविजन पुलिस थाने पर पहुंचाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here