जन संवाद’ में नजर आई ‘जीत’

-सियासी माहौल गर्माया
‘जन संवाद’ में नजर आई ‘जीत’
-राजस्थान विधानसभा चुनाव: मोदी के दौरे से जागी भाजपा, कांग्रेस को झटका देने के लिए अपनाई ये राजनीति
डॉ.के.आर.गोदारा
जोधपुर। प्रदेश की राजनीति के केन्द्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सभा से उत्साहित बीजेपी लाभार्थियों के जरिए चुनावी वैतरणी पार करने के मूड में हैं। चुनावों से पहले अब बीजेपी केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से संपर्क साधेगी। राजधानी जयपुर में प्रधानमंत्री लाभार्थी जनसंवाद कार्यक्रम काफी सफल रहा। इससे उत्साहित बीजेपी में नए जोश का संचार हो गया है। उपचुनावों में मिली हार के बाद पहली बार प्रदेश बीजेपी को साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों में ‘जीत’ नजर आने लगी है। मोदी की जयपुर रैली के बाद राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई हैं और माहौल पूरी तरह से चुनावी रंग में रंग चुका है।
विरोधी दल को बड़ा झटका
भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के अनुसार मोदी के दौरे ने राजस्थान भाजपा में नए जोश और ऊर्जा का संचार कर दिया है। जयपुर में मोदी की सभा के दो दिन बाद भाजपा ने कांग्रेस के क्षत्रपों को पार्टी में शामिल करने की रणनीति बनाई है। भाजपा की रणनीति है कि अगले दो माह में कांग्रेस के आधा दर्जन क्षत्रपों को पार्टी में शामिल कर चुनाव से पहले विरोधी दल को बड़ा झटका दिया जाए। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेताओं के साथ प्रारम्भिक दौर की बातचीत भी हो चुकी है। भाजपा कोर कमेटी की बैठक में कांग्रेसी क्षत्रपों को भाजपा में शामिल करने को लेकर चर्चा हुई। बैठक के बाद भाजपा के राष्टय उपाघ्यक्ष और प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने साफ  कर दिया कि आगामी विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की भाजपा का नेतृत्व करेंगी। खन्ना ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार की योजनाओं के साथ ही राज्य सरकार द्वारा किए गए कार्यों के बल पर भाजपा वोट मांगेगी।
सत्ता विरोधी लहर अब कम
वसुंधरा राजे अगले माह से प्रदेश में यात्रा निकालेगी। इस यात्रा के दौरान वसुंधरा राजे प्रदेश के सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में जाएगी। कोर कमेटी की बैठक नेताओं ने पीएम मोदी की सभा सफल होने के बाद माना कि प्रदेश में सत्ता विरोधी लहर अब कम होने लगी है। यदि एकजुट होकर मेहनत की जाए तो भाजपा एक बार फिर सत्ता में आ सकती है। पार्टी का कार्यकर्ता विधानसभा के मिशन-180 और लोकसभा के मिशन-25 को हासिल करने के लिए कमर कस कर तैयार हो रहा है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने कहा कि उनकी नई टीम का जल्द एलान कर दिया जाएगा। नई टीम में युवाओं को प्राथमिकता दी जाएगी। संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राजेन्द्र राठौड़ ने तो यहां तक दावा किया कि बीजेपी का कार्यकर्ता के लिए ये चुनाव करो या मरो जैसा होगा।
संशय खत्म कर गए मोदी
मोदी के दौरे के बाद राजस्थान भाजपा में नेतृत्व को लेकर चल रही खींचतान फिलहाल शांत हो गई। इसका नजारा कोर कमेटी की बैठक में भी नजर आया। जब पार्टी के नए प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी की अध्यक्षता में हुई बैठक में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित पार्टी के सभी बड़े नेता शामिल हुए। प्रधानमंत्री मोदी अपने भाषण में नेतृत्व को लेकर कार्यकर्ताओं के सभी तरह के संशय भी खत्म कर गए। सरकार के कामकाज के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की जमकर तारीफ  की और मंच पर भी दोनों के बीच कोई तल्खी या दूरियां नजर नहीं आई। पार्टी इससे पहले भी यह साफ  कर चुकी थी कि आने वाला चुनाव पार्टी वसुंधरा राजे के नेतृत्व में ही लड़ेगी। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने नए अध्यक्ष सैनी से अपनी निकटता भी जाहिर कर दी। उन्होंने कहा कि जब मैं संगठन का काम देखता था तब मेरे प्रवास के ज्यादातर कार्यक्रम सैनी के साथ बनते थे और सैनी कार्यकर्ताओं को बहुत अच्छी तरह पहचानते हैं।