भ्रष्टाचार मिटाओं-भाजपा भगाओं…

जयपुर में शहर कांग्रेस का पैदल मार्च, बडे नेता नदारद पर कार्यकर्ताओ ने दिखाया जोश

जयपुर। विधानसभा चुनाव के चलते जयपुर शहर कांग्रेस एक्शन मोड़ में आ गई है। आज शहर कांग्रेस ने भ्रष्टाचार मिटाओ-भाजपा भगाओ मार्च निकाला। पीसीसी से शुरू हुआ मार्च किशनपोल में जाकर समाप्त हुआ। इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने जमकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई।
पिछली बार जयपुर शहर कांग्रेस की तमाम 8 सीटों पर पार्टी का सूपड़ा साफ हो गया था। लिहाजा इससे सबक लेते हुए शहर कांग्रेस अभी से चुनावी मोड़ में आ गई है। जनता का भरोसा जीतने के लिए और सत्ता विरोधी माहौल बनाने के लिए शहर कांग्रेस ने भ्रष्टाचार को इस बार मुख्य मुद्दा बनाया है। आज इसको लेकर पीसीसी से भ्रष्टाचार मिटाओ-भाजपा भगाओ मार्च निकाला। मार्च पीसीसी से शुरू होकर संजय सर्किल,चांदपोल,छोटी चौपड़ होते हुए किशनपोल पहुंचा। शहर जिलाध्यक्ष प्रताप सिंह ने दावा किया कि चाहे स्मार्ट सिटी हो या द्रव्यव्ती नदी प्रोजेक्ट हर में घोटाला हुआ है।
बॉक्स-बडे नेता मार्च से नदारद
मार्च में कांग्रेस ने तमाम नेताओं के जुटने का दावा किया गया था। लेकिन कईं बड़े चेहरे नदारद दिखे। पूर्व सासंद महेश जोशी और पूर्व मंत्री बृजकिशोर शर्मा जैसे नेता मार्च में शामिल नहीं हुए। वहीं चारदीवारी में शहर कांग्रेस के पैदल मार्च से ट्रेफिक व्यवस्था चरमरा गई और राहगीरों-वाहन चालकों को घंटों गर्मी में परेशान होना पड़ा। साथ ही मार्च में पर्याप्त भीड़ भी नहीं जुट पाई। फिर भी नेता भाजपा को सत्ता से दूर करने का दावा ठोकते रहे।
बॉक्स- मार्च में दिखा चुनावी रंग
पैदल मार्च पूरी तरह से चुनावी और टिकट की दावेदारी में रंगा नजर आया। खासतौर से पिछली बार चुनाव लड़ चुके नेता मार्च में ऐसे नेतृत्व कर रहे थे कि जैसे उन्हें ही टिकट मिलने जा रही हो। वहीं टिकटों के नए दावेदारों ने भीड़ जुटाकर और पोस्टर वार के जरिए शक्ति प्रदर्शन किया।
शहर कांग्रेस लगातार अब इस तरह के कार्यक्रम करेगा-प्रताप सिंह
शहर अध्यक्ष प्रतापत सिंह खाचरियावास ने कहा कि राजधानी में कांग्रेस अब चुनाव तक सरकार के नाक में दम कर देगी। पैदल मार्च पूरे जयपुर में आगे भी जारी रहेगा। अब देखना है कि जनता कांग्रेस को कितना समर्थन उनके आंदोलन को देती है।