साढ़े चार साल बाद याद आए बीजेपी को मोर्चे व प्रकोष्ठ

चुनाव आए तो संगठन महामंत्री ने शुरू किया मोर्चा और प्रकोष्ठों के पदाधिकारियों से संवाद

जयपुर। प्रदेश भाजपा विधान सभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है और साढे चार साल से पार्टी की गतिविधियों से पूरी तरह से दरकिनार रहे मोर्चा और प्रकोष्ठ पार्टी को याद आने लगे है। लिहाजा अब संगठन महांत्री ने मोर्चा और प्रकोष्ठों के पदाधिकारियों के साथ संवाद करना शुरू किया है।
भाजपा पदाधिकारियों की माने तो प्रदेश भाजपा की ओर से बीते साढे चार साल में बडे बडे कार्यक्रम हुए लेकिन मोर्चा और प्रकोष्ठों को पूरी तरह से दरकिनार ही रखा गया। जिससे वे पार्टी की मुख्यधारा में नहीं आ सके। जिससे पार्टी कार्यालय में मोर्चा और प्रकोष्ठों का अस्तित्व न के बराबर ही रह गया था। लेकिन जब विधान सभा चुनाव से पहले जब जमीनी स्तर पर कई बडे कार्यक्रम धराशाई हुए तो पार्टी को इनकी याद आई है।
अब मोर्चा और प्रकोष्ठों को मुख्य धारा में लाने की कवायद की जा रही है। संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर ने शनिवार को ओबीसी मोर्च की प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियें की बैठक ली और उनसे विधान सभा चुनाव की तैयारियों को लेकर संवाद किया। विधान सभा चुनाव के पांच माह पहले अब मोर्चा और प्रकोष्ठों को संभाल रही है।