शेखावाटी जीतने के लिए ‘शाह’ ने बनाया मास्टर प्लान, कल सीकर में बड़ी सभा

पार्टी के वरिष्ठ नेता, अमित शाह की सभा को सफल बनाने के लिए लगातार शेखावाटी के 3 जिलों में दौरे कर रहे हैं. पार्टी का पूरा जोर सीकर और झुंझुनूं के सभी कार्यकर्ताओं को सम्मेलन तक लाना और उसके बाद शाह की सभा में भीड़ जुटाने पर है. शाह की सभा सीकर के जिला स्टेडियम में गुरुवार को सुबह 11:00 बजे से होगी. इससे पहले अमित शाह कार्यकर्ता के सम्मेलन को भी संबोधित करेंगे. पार्टी नेताओं का दावा है की शाह की सभा में करीब एक लाख लोग शामिल होंगे. वहीं पार्टी की शक्ति सम्मेलन में करीब 4000 कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के शामिल होने का दावा किया जा रहा है.

प्रेम सिंह बाजौर को सौंपी हैं जिम्मेदारी

पार्टी ने शाह के दौरे की पूरी जिम्मेदारी नीमकाथाना विधायक और सैनिक कल्याण सलाहकार समिति के अध्यक्ष प्रेम सिंह बाजौर को सौंपी है. बाजौर सीकर और झुंझुनूं में लगातार शाह के दौरे को लेकर बैठक कर रहे हैं. पार्टी सूत्रों की मानें तो बाजौर के पास भी पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के सामने खुद को साबित करने का बड़ा मौका होगा. क्योंकि बाजौर आगामी लोकसभा चुनाव में झुंझुनू से ताल ठोक सकते हैं. इसी वजह से वे लगातार झुंझुनूं में सक्रिय हैं. सीकर लोकसभा क्षेत्र में शाह के दौरे की जिम्मेदारी सांसद सुमेधानंद सरस्वती के हाथ में है और वे लगातार कार्यकर्ताओं की बैठकें ले रहे हैं.

अभी भी 15 में से महज 7 विधायक
सीकर और झुंझुनूं पर ज्यादा जोर इसलिए भी दिया जा रहा है कि भाजपा यहां बहुत ज्यादा मजबूत नहीं रही है. पिछले विधानसभा चुनाव में जहां भाजपा ने पूरे प्रदेश में कांग्रेस का सूपड़ा साफ किया था. वहीं शेखावाटी के सीकर और झुंझुनूं पार्टी के 15 में से महज 7 विधायक है. पार्टी के वरिष्ठ नेता मानते हैं कि पिछले चुनाव जबरदस्त मोदी लहर और सत्ता विरोधी लहर के बाद भी पार्टी यहां बढ़त नहीं बना पाई थी. हालांकि इसके बाद हुई लोकसभा चुनाव में सीकर और झुंझुनूं दोनों सीटें भाजपा के खाते में गई थी.
सीकर-झुंझुनूं में पार्टियों की स्थितिसीकर में 8 और झुंझुनू में 7 विधानसभा क्षेत्र है. इन 15 विधानसभा क्षेत्रों में से नीमकाथाना, खंडेला, श्रीमाधोपुर, धोद, सीकर, पिलानी और उदयपुरवाटी सीट ही भाजपा के पास है. यहां की 4 सीटों पर निर्दलीय का कब्जा है तो 3 सीटें कांग्रेस के पास है. 1 सीट बसपा के खाते में है.