एमपी में अमित शाह ने एक ही झटके में सारे घर के बदल दिए….क्या राजस्थान में भी ऐसा ही होगा

जयपुर: राजस्थान में विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे पास आ रहे हैं कांग्रेस और भाजपा में टिकट को लेकर सरगर्मियां और भी तेज हो रही है. हालांकि अभी तक दोनों ही बड़ी पार्टियों में से किसी ने भी उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है. बताया जा रहा है कि भाजपा राजस्थान में प्रत्याशियों की पहली लिस्ट दिवाली से पहले जारी कर ही देगी.

वहीं इस बार भाजपा के उम्मीदवारों की लिस्ट कुछ खास होने वाली है. क्योंकि प्रत्याशियों के चयन को लेकर पहले प्रदेश भाजपा और फिर उसके बाद पार्टी आलाकमान में मंथनों का दौर जारी है. भाजपा हर गणित लगाकर प्रत्येक सीट से जिताऊ प्रत्याशी को उतारने की कवायद कर रही है. वहीं इस बार एंटी-इंकंबेंसी से बचने के लिए नए चेहरों पर दांव लगाने पर ज्यादा फोकस कर रही है. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह खुद उम्मीदवारों के चयन को लेकर गहन मंथन कर रहे हैं. वहीं बात करें मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों की तो भाजपा ने शुक्रवार को एमपी में अपने प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी कर दी है. इस लिस्ट में पार्टी ने कुल 230 में से 177 उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. यानि पार्टी ने करीब दो तिहाई प्रत्याशियों के नाम पहली लिस्ट में ही जारी कर दिए हैं. इससे कयास लगाए जा रहे हैं कि राजस्थान में भी भाजपा पहली लिस्ट में दो तिहाई यानि 150 से ज्यादा उम्मीदवारों की घोषणा कर सकती है. यदि ऐसा होता है तो भाजपा के अधिकतर टिकट दावेदारों की किस्मत का फैसला दिवाली से पहले ही हो जाएगा. आपको बता दें कि भाजपा ने साल 2013 में भी टिकट को लेकर यही रणनीति अपनाई थी. उस चुनाव में भी भाजपा ने अपनी पहली लिस्ट में 200 में से 176 प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है. हालांकि इस बार पार्टी टिकट को लेकर भारी मंथन कर रही है. खुद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह उम्मीदवारों  के चयन को लेकर विचार कर रहे हैं. इसलिए यह पूरी तरह पार्टी पर ही निर्भर करेगा कि पार्टी पहली लिस्ट में कितने दावेदारों की किस्मत का फैसला करती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here