भाजपा केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक शुरू, मोदी पहुंचे, टेबल पर 200 दावेदारों की लिस्ट

भाजपा संसदीय बोर्ड के सदस्य शाहनवाज हुसैन, राजस्थान कोर कमेटी के सदस्य केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल पहुंचे, वसुंधरा राजे, प्रकाश जावडेकर तमाम नेता भाजपा मुख्यालय में जुट गए हैं. यह भाजपा प्रत्याशियों की पहली सूची पर फैसले की घड़ी है. जो लिस्ट कोर कमेटी ने तैयार की हो मोदी और शाह उस पर अंतिम फैसला लेंगे. बैठक लंबी चलने की संभावना है. सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार भाजपा ने प्रदेश की सभी 200 सीटों पर मंथन कर लिया है. अमित शाह के निवास पर गजेंद्र सिंह शेखावत और वी सतीश ने कंप्यूटर पर सूची तैयार करवा उसका प्रिंट एक लिफाफे में बंद कर लिया है जिसे पार्लियामेंट्री बोर्ड के सामने रख गया है. सभी सीटों पर मोदी एक नजर दौड़ाएंगे और अमित शाह की हरी झंडी के बाद उसे फाइनल कर प्रकाश जावडेकर जो कि राजस्थान के चुनाव प्रभारी हैं उन्हें सौंप दिया जाएगा.
अमित शाह के निवास पर भाजपा कोर ग्रुप की बैठक

इससे पहले अमित शाह के निवास पर कई घंटों तक कोर ग्रुप की बैठक चलती रही. बताया जा रहा है कि वसुंधरा राजे कुछ नामों को लेकर संदेह में थीं जिस पर चर्चा कर ली गई है. पूरी की पूरी 200 सीटों पर लिस्ट भाजपा ने तैयार कर ली है. अब पार्टी की पार्लामेंट्री बोर्ड की बैठक में उम्मीदवारों के नामों पर अंतिम मुहर लगेगी.

भाजपा मुख्यालय पहुंचे ये नेता

आज शाम 6 बजे शुरू हुई इस बैठक में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, गृहमंत्री राजनाथ सिंह,  वित्त मंत्री अरुण जेटली, शाहनवाज हुसैन, संगठन महामंत्री रामलाल, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, जेपी नड्डा, थावरचंद गहलोत. राजस्थान प्रभारी अविनाश राय खन्ना, गुलाबचंद कटारिया, केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम  मेघवाल, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम माथुर, राजेंद्र राठौड़, अशोक परनामी, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत प्रदेश संगठन मंत्री चंद्रशेखर सह संगठन मंत्री भी सतीश प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी, भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष विजय राहाटकर भी भाजपा मुख्यालय पर हो रही बैठक में हिस्सा ले रहे हैं.

जावडेकर के साथ सीएम की गुप्त मंत्रणा
पार्लियामेंट्री बोर्ड की बैठक शुरू होने से पहले वसुंधरा राजे ने प्रकाश जावडेकर के साथ लॉन में करीब 10 मिनट तक गुप्त मंत्रणा की. माना जा रहा है कि जावडेकर के जरिए वसुंधरा राजे अपने चहेतों के टिकट फाइनल करवाने को लेकर उनसे चर्चा कर रही थी. हालांकि उम्मीदवारों पर अंतिम फैसला शाह और मोदी को ही लेना है. लिस्ट जारी होने के बाद यह भी माना जा रहा है कि उस पर भाजपा में फूट हो सकती है.