वसुंधरा ने टिकट को लेकर महामंथन के बाद लगाया देवियों को धोक, साथ में पुत्र दुष्यंत भी

हालांकि टिकिट को लेकर भाजपा के नेताओं का महामंथन मंगलवार रात को ही खत्म हो गया था. साथ ही ज्यादातर भाजपा के पदाधिकारी और मंत्री रात को ही रणकपुर से रवाना हो गए थे. लेकिन, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे रात को रणकपुर ही रूकी. मुख्य़मंत्री सुबह हेलिकॉप्टर से नाडोल पहुंची, जहां उन्होंने चौहानों की कुलदेवी आशापुरा के दर्शन किए. इसके बाद वो सड़क मार्ग से नारलाई स्थित जैकल पर्वत पर सीरवी समाज की आराध्य देवी आई माता के मंदिर दर्शन करने पहुंची. वहां दर्शन करने के बाद राजे नाडोल से रवाना हो गई.
22 अक्टूबर को खुलेगा ओपिनियन बॉक्स
टिकट को लेकर महामंथन के दौरान कार्यकर्ताओं के विचार जानने के लिए एक बॉक्स भी रखवाया था. उस बॉक्स में कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने विचार लिखकर डाले हैं. 22 अक्टूबर को इन बॉक्स को राजे की अन्य पदाधिकारियों की मौजूदगी में खोला जाएगा. देखना होगा कि कार्यकर्ताओं ने ओपिनियन बॉक्स में अपना कैसा विचार रखा है और इससे पार्टी को चुनाव में क्या फायदा मिलता है.