कांग्रेस ने वसुंधरा के सामने मानवेन्द्र सिंह को उतारा

नई दिल्ली . कांग्रेस ने प्रत्याशियों की तीसरी सूची जारी कर दी है. इस सूची में पार्टी ने 32 सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा की है. जिसमें से सबसे खास नाम भाजपा छोड़कर कांग्रेस में गए कर्नल मानवेंद्र सिंह का  है. मानवेंद्र सिंह को पार्टी ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के सामने झालरापाटन सीट से मैदान में उतारा है. कांग्रेस की ओर से वसुंधरा राजे के सामने खेले गए इस दांव के बाद सियासी पारा चढ़ गया है. चुनावी आहट होने के बाद से ही कांग्रेस वसुंधरा राजे को घेरने में जुटी हुई है. इसी रणनीति पर आगे बढ़ते हुए पार्टी ने झालरापाटन विधानसभा सीट से बड़ा दांव खेला है. पार्टी ने इस सीट पर वसुंधरा राजे को पटखनी देने के लिए मानवेंद्र सिंह को मैदान में उतार दिया है. मानवेंद्र सिंह को मैदान में उतारने के साथ ही राजस्थान की राजनीति सियासी चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है. वहीं, तीन दशक से झालरापाटन से चुनाव लड़ रही वसुंधरा राजे के सामने मानवेंद्र के चुनौताी देने के बाद से इसी सीट पर चुनाव दिलचस्प हो गया है. राजनीति के जानकारों का कहना है कि मानवेंद्र को झालरापाटन से मैदान में उतारने के साथ ही अब ये सीट कांग्रेस के साथ ही  मानवेंद्र के लिए भी प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गया है. क्योंकि, 2014 के लोकसभा चुनाव में पूर्व विदेशमंत्री जसवंत सिंह को वसुंधरा राजे ने टिकट नहीं दिया था. इसके बाद से नाराज चल रहे मानवेंद्र सिंह ने हाल में भाजपा को छोड़कर पत्नी के संग कांग्रेस की सदस्यता को ग्रहण कर ली थी. राजनीति के जानकारों का कहना है कि कांग्रेस की तरफ से झालरापाटन से टिकट देने के बाद ये चुनाव भी मानवेंद्र के लिए स्वाभिमान का विषय बन गया है. ऐसे में अब सभी की निगाहे झालरापाटन की तरफ टिक गई है.