टिकट के लिए जैसलमेर की पूर्व महारानी रासेश्वरी दिल्ली में डटी, तो मां के लिए बेटा कर रहा गांव-गांव, ढाणी-ढाणी जनसंपर्क

जैसलमेर विधानसभा से रूपाराम धणदै, सुनीता भाटी के साथ-साथ पूर्व महारानी रासेश्वरी राज्यलक्ष्मी भी टिकट के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रही हैं. वहीं बताया जा रहा है कि पूर्व महारानी लगातार दिल्ली में डटकर जैसलमेर विधानसभा से टिकट की मांग कर रही हैं. दूसरी ओर पूर्व महारानी के बड़े पुत्र और राजपरिवार के युवराज चैतन्य राज निरंतर ग्रामीण क्षेत्रों के दौरे पर हैं. अचानक युवराज चैतन्य राज सिंह का ग्रामीण क्षेत्रों में जारी जनसंपर्क चर्चा का विषय बना हुआ है. हालांकि जैसलमेर विधानसभा से टिकट पर मुहर नहीं लगी है. लेकिन युवराज चैतन्य राज सिंह ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा कर बुजुर्गों से आशीर्वाद ले रहे हैं. युवराज ग्रामीण क्षेत्रों में प्राचीन मंदिरों में धोक लगा रहे हैं तथा बुजुर्गों व युवाओं से रूबरू हो रहे हैं. राजमहलों से बाहर निकलकर ग्रामीणों के मध्य पहुंचने पर ग्रामीण युवराज चैतन्य राज सिंह का गर्मजोशी से लोगों ने स्वागत किया. युवराज को फूल-मालाओं से लादा जा रहा है. साथ ही ढोल-नगाडों के साथ भव्य स्वागत किया जा रहा है. कांग्रेस से लिए टिकट वितरण को लेकर हॉट सीट बन चुकी जैसलमेर विधानसभा में युवराज के अचानक सक्रिय होने से लोगों में अलग-अलग कयास लगाए जा रहे हैं. लेकिन टिकट वितरण के बाद ही स्पष्ट होगा कि जैसलमेर की राजनीति में राजपरिवार का भविष्य क्या होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here