38 सालों से राजस्थान की 5 सीटों पर नहीं खिला कमल, BJP को अबकी बार भी इंतजार

झुंझुनूं . राजस्थान में ‘सबका साथ-सबका विकास’ और ‘साफ नीयत, सही विकास’ नारे के साथ बीजेपी आगामी चुनाव में जीत का दम भर रही है. लेकिन गत चुनाव की तरह विधानसभा चुनाव 2018 में भी ऐतिहासिक सफलता का दावा करने वाली पार्टी के लिए आज भी 5 सीटों पर जीत आसान नहीं हैं. ये वो विधानसभा क्षेत्र है जहां से बीजेपी के उम्मीदवार के सिर पिछले 38 सालों में एक बार भी जीत का सेहरा नहीं सजा. 1980 में बीजेपी की स्थापना के बाद से अब तक यहां बीजेपी का खाता नहीं खुल सका और इस बार भी उम्मीदें पूरी हों इसका दावा नहीं किया जा सकता.
प्रदेश विधानसभा की 200 सीटों में इन पांच सीटों में तीन शेखावाटी इलाके की है जबकि एक बीकानेर और एक बांवाड़ा जिले में है. प्रदेश विधानसभा चुनावों का रण सज कर तैयार है और बीजेपी इस बार 180 सीटें जीतने का दावा कर रही है. लेकिन बीजेपी की स्थापना होने से लेकर अब तक इन पांच सीटों पर पार्टी का खाता ही नहीं खुल सका है.
राजस्थान की ये पांच विधानसभा सीटें कभी नहीं जीत पाई बीजेपी

♦ बीकानेर जिले की लूणकरणसर सीट (अनारक्षित)
♦ झुंझुनूं जिले की मंडावा सीट (अनारक्षित)
♦ झुंझुनूं जिले की नवलगढ़ सीट (अनारक्षित)

♦ सीकर जिले की दांतारामगढ़ सीट (अनारक्षित)
♦ बांसवाड़ा जिले की बागीडोरा सीट (एसटी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here