नेताओं की सेहत और अस्पताल का चक्कर!

यह दुखद है पर हकीकत है कि भारत की राजनीति के कई बड़े नेता बीमार हैं और अस्पतालों में भरती हैं। कई नेता तो ऐसे हैं, जिनकी बीमारियां उम्र से जुड़ी हैं। यानी ज्यादा उम्र हो जाने की वजह से बीमार होकर अस्पताल में भरती हैं। पर कई नेताओं को दूसरी गंभीर बीमारियां हो गई हैं। गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की बीमारी के बारे में सबको पता है। उनको पैंक्रियाज का कैंसर हो गया है, जिसका इलाज अमेरिका में हुआ था और अब दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा है। उनकी सरकार में नंबर दो मंत्री फ्रांसीस डिसूजा को भी कैंसर है और उनका इलाज भी अमेरिका में हो रहा है। गोवा सरकार के तीसरे मंत्री पांडुरंग मदाईकर हैं, जो अस्पताल में भरती हैं। दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित इस समय अपना इलाज फ्रांस में करा रही हैं। खबर है कि उनके हृदय का ऑपरेशन हुआ है। उनकी उम्र 80 साल से ऊपर है पर वे दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष की रेस में भी शामिल हैं। इसका कारण यह है कि मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन को एक लाइलाज बीमारी हो गई है। उनकी रीढ़ में एक हड्डी बढ़ गई और जुड़ भी गई है, जिसके इलाज के लिए वे सिंगापुर गए हैं। केंद्र सरकार के वरिष्ठ मंत्री अनंत कुमार भी गंभीर रूप से बीमार हो गए थे और इस समय लंदन में उनका इलाज चल रहा है। वित्त मंत्री अरुण जेटली हाल ही में किडनी बदलवा कर काम पर लौटे हैं। बताया जा रहा है कि उनकी खराब हो गई किडनी को निकाला नहीं जा सका और उसके साथ ही एक दूसरी किडनी लगाई गई है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और सपा से निकाले गए सांसद अमर सिंह पहले अपनी किडनी बदलवा चुके हैं। जेल में बंद राजद प्रमुख लालू प्रसाद को एक साथ कई बीमारियां हो गई हैं और हाल में वे मुंबई से इलाज करा कर लौटे हैं और अब रांची के रिम्स में उनका इलाज चल रहा है।