हम ना हाथ के साथ….ना कमल के साथ….ना हाथी के साथ….27 को बताएंगे किसके साथ- कालवी

दरअसल, नागौर के मेड़ता सिटी में एक सामाजिक कार्यक्रम में शिरकत करने बाद मीडिया से रुबरु होते हुए राष्ट्रीय करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी ने कहा कि समाज के कई संगठन कमल का फूल हमारी भूल की बात कह रहे हैं. लेकिन वो इससे सहमत नहीं हैं.  उन्होंने कहा कि समय आने पर सब पता चल जाएगा. कालवी ने कहा कि करणी सेना ना ही कांग्रेस के हाथ के साथ है और ना ही बसपा के साथ है.  समाज की बात जो सुनेगा वो ही राज करेगा. समाज इस बार किसके साथ है, इसके लिए आगामी 27 को जयपुर में मीटिंग रखी गई है. उसमें समाज फैसला लेगा, साथ ही आनंदपाल की मां के चुनाव लड़ने की बात सामने आ रही है. क्या राजपूत समाज आनंदपाल की मां के साथ खड़ा रहेगा के सवाल पर कालवी ने कन्नी काटते हुए कहा कि जब चुनाव लड़ने का समय आएगा तब देखा जायेगा. बता दें कि राजस्थान में आनंदपाल समेत कई घटनाओं को लेकर राजपूत समाज भाजपा और वसुंधरा सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. कई मौकों पर समाज के लोग भाजपा पर अनदेखी का आरोप लगाते हुए चुनाव में सबक सिखाने का कह चुके हैं. ऐसे में भाजपा को लेकर खुले तौर पर विरोध से करने से कन्नी काटना कुछ और ही इशारा करता है. हालांकि, इसका फैसला तो आनेवाले समय में ही हो सकेगा.