राजस्थान कांग्रेस की चुनाव कमेटियों में मारवाड़ से बाड़मेर जिले के नेताओं का डंका

वहीं प्रदेश चुनाव समिति में मारवाड़ और बाड़मेर के जिले के तीन नेताओं के नाम शामिल किए गए हैं. उसमें मारवाड़ और बाड़मेर से सबसे पहला नाम हरीश चौधरी का है. चौधरी वर्तमान में कांग्रेस के पंजाब राज्य में लम्बे समय से सह प्रभारी हैं. पूर्व में कांग्रेस के सांसद बाड़मेर जैसलमेर से रह चुके है. मोदी लहर में हार गए थे और राहुल गांधी के टीम के अहम सदस्य भी हैं. वहीं वर्तमान में हरीश चौधरी अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में सचिव पद पर कार्यरत हैं. चौधरी के बाद दूसरा नाम हेमाराम चौधरी का नाम चुनाव समिति में शामिल किया गया हैं. अशोक गहलोत के कार्यकाल में दोनों कई विभाग के कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं. उसके साथ ही पिछली वसुंधरा सरकार में हेमाराम चौधरी प्रतिपक्ष के नेता भी रह चुके हैं. चौधरी राजस्थान में कांग्रेस के बड़े जाट नेता माने जाते हैं. वर्तमान में हेमाराम चौधरी गुडामालानी से चुनाव में ताल ठोकते नजर आ रहे हैं. वहीं तीसरा नाम अल्पसंख्यक समुदाय की ओर से राजस्थान के अल्पसंख्यक नेता अमीन खान को शामिल किया गया है. आमीन खान अशोक गहलोत कार्यकाल के दौरान मंत्री भी रह चुके हैं. अमीन खान पिछले कई बार कांग्रेस के विधायक रह चुके हैं. पिछले बार राजस्थान के सबसे हॉट सीट शिव विधानसभा से मानवेन्द्र सिंह से हार गए थे अब फिर से शिव विधानसभा से टाल ठोकते नजर आ रहे हैं. कांग्रेस की जब भी राज्य में सरकार होती है तो बाड़मेर जिले के कांग्रेस नेताओं विशेष तवज्जो दी जाती है. क्योंकि बाड़मेर जिला कांग्रेस का गढ़ माना जाता है. वर्तमान में बाड़मेर जिले में जिला परिषद और नगर परिषद में कांग्रेस की सरकार है. इस तरीके से जो चुनाव समितियां बनी है. उसमें भी मारवाड़ के बाड़मेर जिले का बोलबाला देखने को मिल रहा है.