कल मानवेंद्र का रुख तय करेगा कि थार में किसका झंडा फहराएगा

जैसलमेर। भाजपा के सामने बगावती तेवर अपना चुके शिव विधायक मानवेंद्र सिंह की स्वाभिमान रैली कल पचपदरा में होगी। वहीं, राजनीतिक दलों की निगाहें भी रेतीली धोरों की गरमाई सियासत पर टिक गई है। अब सभी को स्वाभिमान रैली और  उसके रुख का इंतजार बना हुआ है। क्योंकि, यहां चलने वाली सियासी हवा आने वाले दिनों में नए राजनीतिक समीकरण तैयार करेगी। पश्चिमी राजस्थान की रेतीली धोरों में चुनावी गर्माहट के बीच स्वाभिमान को लेकर मानवेंद्र सिंह की ओर से छेड़ी गई जंग के बाद से सियासत तेज हो गई है। सभी की निगाहें पिछले एक महीने से इस रैली को लेकर जारी हलचल और मानवेंद्र के कदम पर टिकी हुई है। जैसलमेर में जसवंतसिंह व मानवेन्द्रसिंह के समर्थकों की बड़ी तादात होने के कारण मानवेन्द्र का अगला कदम जैसाण की राजनीति में अहम रहेगा। स्वाभिमान रैली को लेकर पूरी ताकत झोक चुके मानवेंद्र इस रैली के जरिए अपना शक्ति प्रदर्शन करेंगे। इस रैली को सफल बनाने के लिए उन्होंने लगातार जैसलमेर के दौरे किए हैं। वहीं, मानवेंद्र के समर्थक और करणी सेना भी लगातार जनसंपर्क में जुटी है। आपको बता दें कि भाजपा से नाराज चल रहे मानवेंद्र ने पिछले दिनों दिल्ली में कांग्रेस नेताओं से मुलाकात की थी। इसके बाद से लगातार सियासी हलचल बनी हुई है। माना जा रहा है कि वे स्वाभिमान रैली के बाद कांग्रेस की तरफ रुख कर सकते हैं। लेकिन, रैली होने तक मानवेंद्र अपने अगले कदम पर चुप्पी साधे हुए हैं। राजनीति के जानकारों का कहना है कि स्वाभिमान रैली में आने वाली भीड़ और समाज के मूड को देखते हुए ही मानवेंद्र राजनीति का अगला निर्णय करेंगे। साथ ही इसी सभा में उनकी पत्नी चित्रा सिंह की राजनीतिक तस्वीर भी पूरी तरह साफ होगी। हालांकि, भाजपा के स्तर पर भी कई बड़े नेता मानवेंद्र के संपर्क में हैं। साथ ही उन्हें मनाने को लेकर हर स्तर पर प्रयास जारी है।
मानवेंद्र सिंह पहुंचे पचपदरा, स्वाभिमान रैली को लेकर बनाई रणनीति 
चुनावी घमासान के बीच मानवेंद्र सिंह की स्वाभिमान रैली को लेकर सियासी हलचल लगातार बढ़ती जा रही है। भाजपा-कांग्रेस की निगाहें इस रैली पर टिक गई है। वहीं, मानवेंद्र कल होने वाली स्वाभिमान सभा से पहले आज सभा स्थल पर पहुंचे। यहां उन्होंने तैयारियों का जायजा लिया। साथ ही आवश्यक निर्देश भी दिए। सभा स्थल का जायजा लेने के दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं को सीटिंग अरेंजमेंट सहित गाड़ियों की पार्किंग आदि के बारे जानकारी दी। शिव विधायक मानवेंद्र ने मौके पर कार्यकर्ताओं के साथ नेताओं के बैठने से लेकर सभा स्थल की  हर व्यवस्था को लेकर रणनीति बनाई। आपको बता दें कि शनिवार को सुबह 11 बजे पचपदरा में स्वाभिमान रैली होगी। भाजपा से नाराज चल रहे मानवेंद्र अपनी इस रैली के लिए पिछले एक महीने से जनसंपर्क कर रहे हैं। इस जनसंपर्क के दौरान वे सीधे तौर पर बीजेपी या पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला नहीं कर रहे हैं। हालांकि, उनकी पत्नी सीधे तौर पर वसुंधरा सरकार पर हमला करते हुए इस सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान करती रही हैं। वहीं, मानवेंद्र को लेकर केंद्रीय राज्यमंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने एक दिन पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी। वहीं, कांग्रेस की नजर भी मानवेंद्र पर टिकी हुई है।