बीजेपी विधायक मानवेन्द्र सिंह का पचपदरा में शक्ति प्रदर्शन

बाड़मेर . जिले के शिव के बीजेपी विधायक कर्नल मानवेन्द्र सिंह आज पचपदरा में स्वाभिमानी रैली के जरिए अपनी राजनीतिक ताकत दिखा रहे हैं. स्वाभिमान रैली में प्रदेशभर से बड़ी संख्या में लोग जुटे हैं. रैली पर बीजेपी और कांग्रेस दोनों की नजरें टिकी हुई हैं. सिंह रैली में आज कोई बड़ा ऐलान कर सकते हैं. इस बीच रैली से कुछ घंटे पहले बीजेपी ने शुक्रवार रात पार्टी की बाड़मेर इकाई में फेरबदल करते हुए जिलाध्यक्ष जालम सिंह रावलोत को हटा कर उनके स्थान पर दिलीप पालीवाल को जिलाध्यक्ष बना दिया. रैली में प्रदेशभर से लोग शामिल हुए हैं. वहीं गुजरात से भी बड़ी संख्या में लोग आए बताए जा रहे हैं. रैली दोपहर करीब एक बजे शुरू हुई. रैली में विधायक मानवेन्द्र सिंह व उनकी पत्नी चित्रा सिंह, राजपूत सभा जयपुर के अध्यक्ष गिर्राज सिंह लाेटवाड़ा, मारवाड़ राजपूत सभा के हनुमान सिंह खांगटा और बाड़मेर के मौलवी अब्दुल करीम समेत सर्व समाज के कई नेता मंच पर उपस्थित हैं. स्वाभिमान रैली को लेकर पिछले कई दिनों से विभिन्न राजपूत संगठन प्रचार प्रसार में जुटे थे. शिव विधायक सिंह और उनकी पत्नी चित्रा सिंह भी बीते महीने भर में जनसम्पर्क में जुटे हुए हैं. इस रैली में कई बड़े नेताओं के शामिल होने के चर्चाएं थी. इसमें भाजपा के कई असंतुष्टों और कांग्रेस के नेताओं के नाम लिए जा रहे थे. हालांकि विधायक मानवेन्द्र सिंह ने इसकी पुष्टि नहीं की है. चर्चा है कि यशवंत सिन्हा, शत्रुघ्न सिन्हा और अरूण शौरी भी रैली को लेकर दिलचस्पी दिखा रहे हैं. उनके आने के चर्चे भी हुए, लेकिन इनमें से अभी तक कोई भी रैली में नहीं पहुंचा है. उधर, इस रैली को लेकर बीजेपी में जयपुर से लेकर दिल्ली तक बेचैनी बनी हुई है. बाड़मेर के शिव से बीजेपी विधायक कर्नल मानवेन्द्र सिंह ने पचपदरा में आयोजित स्वाभिमान रैली में बीजेपी छोड़ने के संकेत दिए हैं. सिंह ने शनिवार को रैली को संबोधित करते हुए कि कहा कि मैंने इतने साल तक धैर्य रखा. मेरी वजह से मेरे समर्थकों को परेशान किया गया. मैंने पीएम को भी बताया. जब फैसला लेने वाले चूक करे तो धैर्य टूटता है. आज वो सीमा खत्म हुई. रैली में मानवेन्द्र सिंह ने ‘कमल का फूल, मेरी भूल’ कहते हुए इस बारे में रैली में आए लोगों से राय मांगी. इस पर वहां मौजूद लोगों ने बीजेपी छोड़ने के नारे लगाए. सिंह ने भावुक होते हुए कहा कि 2014 में दिन में 12 बजे पीएम नरेंद्र मोदी का फोन आया था. मोदी जी ने कहा जसवंत सिंह का टिकट मैंने नहीं काटा. जयपुर के एक और दिल्ली के दो नेताओं ने काटा है.
स्वाभिमान की यह लड़ाई पूरे प्रदेश में चलेगी
मानवेन्द्र सिंह ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इस सभा की चिंगारी को जलाए रखना हर स्वाभिमानी का काम है. स्वाभिमान की यह लड़ाई पूरे प्रदेश में चलेगी. इसकी गूंज प्रदेश से केंद्र तक पहुंचेगी. आज अपने धैर्य की सीमा समाप्त हो गई है. तूफान पचपदरा से शुरू हुआ है और यह जयपुर तक पहुंचेगा. मेरे सभी स्वाभिमानियों का निर्णय मेरे सिर आंखों पर रहेगा.