पोकरण: कांग्रेस में बैचेनी तो भाजपा में घमासान, कांटे की टक्कर वाला होगा मुकाबला

जैसलमेर। दिसम्बर के पहले पखवाड़े में हो रहे विधानसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है। अभी तक किसी भी विधानसभा सीट के प्रत्याशी का टिकट दोनों ही प्रमुख पार्टियों के द्वारा तय नहीं करने से पोकरण विधानसभा क्षेत्र से टिकट की दौड़ में जहां बीजेपी से एक दर्जन लोगों ने दावेदारी कर रखी हैं। वहीं कांग्रेस से •ाी कई लोगों ने दावेदारी कर रखी है, लेकिन वो खुल कर दावेदारी नहीं जता पा रहे हैं। जबकि कांग्रेस से एकमात्र सालेह मोहम्मद ही पोकरण विधानसभा सीट के लिए खुली दावेदारी कर रहे हैं। बीजेपी से वर्तमान विधायक शैतान सिंह राठौड़ भी पोकरण टिकट के लिए दावेदारी कर रहे एक दर्जन लोगों के बीच बिल्कुल खामोश है। ऐसे में पोकरण से कांग्रेस से ज्यादा बीजेपी के टिकट को लेकर लोगों में अधिक उत्साह देखा जा रहा है।

जीताऊ उमीदवार को टिकट
मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने जहा राजस्थान गौरव यात्रा से अपनी पार्टी की स्थिति का आकलन चुनाव से पूर्व कर लिया। वहीं कांग्रेस भी पार्टी में एकजुटता का संदेश और अपनी ताकत का प्रदर्शन करने के लिए संकल्प यात्रा विभिन्न जिलों में कर कार्यकर्ताओं की नब्ज टटोल चुकी है। ऐसे में दोनों ही पार्टियां इस बार टिकट वितरण के बाद जीत की काफी उम्मीद लगा रही है। ऐसे में गत सालों के मुकाबले इस बार एक एक विधानसभा क्षेत्र में दर्जनों लोगों की पार्टी से उम्मीदवारी पर पार्टी आलाकमान को विभिन्न सर्वे की जानकारी के बाद ही जीताऊ उमीदवार को टिकट देगी। बरहाल विधानसभा चुनाव 7 दिसबंर को होंगे और 11 दिसबंर को पता चलेगा की किसकी सरकार और कौन विपक्ष में होगा। क्षेत्रफल के लिहाज से जैसलमेर देश का सबसे बड़ा जिला है। जिसके अंतर्गत दो विधानसभा जैसलमेर और पोकरण आते हैं। दोनो ही सीटों पर बीजेपी का कब्जा है। पोकरण विधानसभा क्षेत्र संख्या 133 की बात करें तो यह सामान्य सीट है और जोधपुर लोकसभा क्षेत्र में आता है।

मामूली अंतर से शिकस्त
2011 की जनगणना के अनुसार यहां की कुल जनसंख्या 303662 है। जिसका 92.24 प्रतिशत हिस्सा ग्रामीण और 7.76 फीसदी हिस्सा शहरी है। वहीं कुल आबादी का 14.13 फीसदी अनुसूचित जाति और 5.76 फीसदी अनुसूचित जनजाति हैं। 2017 की वोटर लिस्ट के अनुसार पोकरण विधानसभा में मतदाताओं की कुल संख्या 186573 है और 249 पोलिंग बूथ हैं। 2013 के विधानसभा चुनाव में यहां 87.63 फीसदी मतदान हुआ था और 2014 लोकसभा चुनाव में 67.94 फीसदी मतदान हुआ था। प्रदेश में 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी के शैतान सिंह ने कांग्रेस विधायक सालेह मोहम्मद को 34444 वोटों से पराजित किया। बीजेपी के शैतान सिंह को 85010 और कांग्रेस के सालेह मोहम्मद को 50566 वोट मिले थे। इससे पहले वर्ष 2008 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के सालेह मोहम्मद ने बीजेपी के शैतान सिंह को 339 मतों के मामूली अंतर से शिकस्त दी। कांग्रेस के सालेह मोहम्मद को 42756 और बीजेपी के शैतान सिंह को 42417 वोट मिले थे।