अब कांग्रेस में शामिल होने के बाद भी मानवेन्द्र सिंह के ‘स्वाभिमान’ की अग्नि परीक्षा

राजपूत बाहुल्य क्षेत्रों में राजपूत उम्मीदवार को प्रत्याशी बनाने के लिए राजपूत समाज लामबंद होता नजर आ रहा है, लेकिन कांग्रेस के सोशल इंजीनियरिंग फार्मूले ने समीकरणों को उलझा दिया है. बाड़मेर-जैसलमेर की 9 विधानसभा क्षेत्रों में गत चुनावों में भाजपा ने जहां चार राजपूत उम्मीदवारों को मैदान में उतारा था. वहीं कांग्रेस ने एक भी राजपूत प्रत्याशी को टिकट नहीं दिया था. वहीं भाजपा के चारों राजपूत प्रत्याशी जीतकर जयपुर भी पहुंचे थे.

कांग्रेस मुस्लिम-मेघवाल के फार्मूले में उलझी
जैसलमेर जिले की दोनों विधानसभा जैसलमेर और पोकरण राजपूत बाहुल्य क्षेत्र हैं. कांग्रेस में मानवेन्द्र सिंह की एंट्री के बाद माना जा रहा है कि जैसलमेर विधानसभा में राजपूत प्रत्याशी को वरियता मिल सकती है लेकिन कांग्रेस के मुस्लिम-मेघवाल के फार्मूले ने समीकरणों को उलझा कर रख दिया है.

राजपूत समाज टिकट के लिए बना रहा दबाव
गत विधानसभा चुनावों में जैसलमेर से रूपाराम मेघवाल व पोकरण से साले मोहम्मद को कांग्रेस ने मैदान में उतारा था, लेकिन राजपूत बाहुल्य व मोदी लहर के चलते दोनों विधानसभाओं में भाजपा का कमल खिला था. वहीं अब एक बार फिर से जैसलमेर विधानसभा में राजपूत प्रत्याशी के लिए राजपूत समाज लामबंद हो रहा है और मानवेन्द्र सिंह पर दबाव भी बना रहा है.

रूपाराम मेघवाल और सालेह मोहम्मद लगभग तय
गत चुनावों में महज 2500 मतों से पराजित होने के कारण कांग्रेस के रूपाराम मेघवाल जैसलमेर विधानसभा से कांग्रेस के प्रबल दावेदार है. जैसलमेर व पोकरण विधानसभाओं में एससी-एसटी मतदाताओं की अच्छी तादाद और परंपरागत वोट बैंक होने के कारण कांग्रेस भी इन्हें नाराज नहीं करना चाहता. वहीं पोकरण में कांग्रेस से सालेह मोहम्मद की टिकट लगभग तय माना जा रहा है. वहीं बात करें बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा क्षेत्र के विधानसभाओं की तो गत चुनावों में कांग्रेस ने क्षेत्र की 9 विधानसभा क्षेत्र में एक भी राजपूत प्रत्याशी को टिकट नहीं दिया था. जिसके चलते राजपूत समाज पूर्ण रूप से भाजपा की ओर रूख कर गया था.

अब मानवेंद्र सिंह कितने होंगे सफल

वहीं भाजपा ने गत विधानसभा चुनावों में बाडमेर-जैसलमेर की नौ विधानसभा सीटों में से चार राजपूत उम्मीदवारों को टिकट दिए थे और चारों राजपूत प्रत्याशियों को जीत भी हासिल हुई थी. अब देखने वाली यह होगी कि मानवेन्द्रसिंह बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा क्षेत्र की नौ विधानसभा क्षेत्रों से कितने राजपूत प्रत्याशियों को टिकट दिलाने में सफल रहते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here