वसुंधरा की बहू निहारिका….उप-चुनाव में भी प्रचार के लिए उतरी थीं…अब फिर मैदान में

दरअसल, वसुंधरा राजे की पुत्रवधू और सांसद दुष्यंत सिंह की पत्नी निहारिका सिंह भी वसुंधरा राजे के साथ झालावाड़ में दिखी. निहारिका सिंह ने वसुंधरा राजे -दुष्यंत सिंह के साथ मंच भी साझा किया. आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए निहारिका सिंह का झालावाड़ में आना एक बड़ा संकेत माना जा रहा है. इससे पहले निहारिका उपचुनाव के दौरान धौलपुर में भी प्रचार कर चुकीं हैं.

गुर्जर समाज के वोटों को लुभाने का प्रयास
वसुंधरा राजे निहारिका सिंह के माध्यम से गुर्जर समाज के वोटों को लुभाने का प्रयास करेंगी. निहारिका सिंह वसुंधरा राजे के लिए 2013 के विधानसभा चुनाव में और 2014 के लोकसभा चुनाव में दुष्यंत सिंह के लिए प्रचार कर चुकी है. निहारिका सिंह अपने आप को गुर्जर की बेटी बताती है और गुर्जर समुदाय के लोगों को भाजपा के पक्ष में मतदान करने के आग्रह करती है.

स्टार प्रचारकों में शामिल निहारिका सिंह

आपको बता दें कि राजस्थान में विधानसभा चुनाव के लिए 7 दिसम्बर को मतदान होना है. इस चुनाव को जीतने के लिए सीएम वसुंधरा राजे ने राज्य व केंद्र सरकार की ही नहीं, बल्कि अपने पूरे परिवार की ताकत को झोंक दी है. हाल ही में राजस्थान में हुए उपचुनाव में भी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने स्टार प्रचारकों की सूची में निहारिका सिंह को भी शामिल किया था. निहारिका सिंह को शामिल करके अमित शाह ने सभी लोगों को चौंका दिया था. ऐसे में आगामी चुनाव को देखते हुए निहारिका सिंह का मंच पर नजर आना चुनाव में बड़े संकेत नजर आते हैं.

सीएम राजे की बहू, पार्टी से लेकर प्रचार तक

गौरतलब है कि निहारिका झांसी के सम्थार के पूर्व राजघराने की राजकुमारी रहीं है. वर्ष 2000 में दुष्यंत सिंह से शादी के बाद वह धौलपुर के पूर्व राजघराने की पुत्रवधु बनीं. सम्थार राजघराना बड़गुर्जर शासकों से सम्बंधित रहा है. निहारिका के पिता और सम्थार राजघराने के शासक रणजीत सिंह गुर्जर नेता है जो कि उत्तर प्रदेश विधान परिषद में एमएलसी भी रहे हैं. निहारिका राजे चूंकि गुर्जर समुदाय से सम्बंध रखती है, इसलिए राजनीतिक पंंडितों का मानना है कि झालावाड़ में गुर्जर मतदाताओं को लुभाने के लिए वे चुनाव मैदान में दिख रही.